पाठ इश्क़ का💍 Read Count : 16

Category : Poems

Sub Category : N/A
कुछ बैठे बैठे मुझे ख्याल जो आया है
उस चाँद को देख तेरा चेहरा नजर आया है
तारो के बीच तु जो जगमगया है
उसमे से एक तारा मेने खुद को पाया है
वो ताजमहल शाहजहाँ ने
जो उनकी याद मे बनवाया है
उनकी याद पढ़ मुझे तो तु हि तु नजर आया है
वो कल का क्या पता क्या होजाये
आज तो मेने दिल से तुझे अपना बनाया है 

                        Kumkum ❤ 

                    

Comments

  • Aditi Raj Singh

    Aditi Raj Singh

    Wow! Beautiful lines. Your words are magical.✨ You can publish your writeups in a book and become a Published Co-author.🌺 I'm compiling an Anthology named, "Epitome of love". Dm me on Instagram @shivanshi_singh1212 ...if you want to be a co-author in this book and rewrite your own stars. 🌟 You will get many rewards.❤️

    Oct 09, 2021

Log Out?

Are you sure you want to log out?