मुल्क से प्रेम के दो % Read Count : 18

Category : Poems

Sub Category : N/A
मैं पाकिस्तान पर कुछ नहीं बोलूंगा, 
बस इतना जान लो हमारे दिलों में हिन्दुस्तान है, 
तभी तो खौफ में पाकिस्तान है!!
हम बेशक अहिंसा के पुजारी हैं, 
पर हमें नपुंसक ना समझना, 
जिस दिन हम अपनी औकात पर आ गए, 
दुनिया से तेरा नामों निशां मिटा देंगे!!

मेरे मुल्क की हिफाज़त ही मेरा फ़र्ज है
और मेरा मुल्क ही मेरी जान है,
इस पर कुर्बान है मेरा सब कुछ,
नही इससे बढ़कर मुझको अपनी जान है।

और कुछ पंक्तियाँ अपनों के लिए भी जो हिन्दू ,मुस्लिम, या फिर जातिभेद अथवा धर्मों के अनुसार देशभक्ति की पहचान करते हैं उनके लिए:-
ये हिन्दुस्तान सिर्फ उसी का है जिसके दिलों में इस देश के लिए कुर्बान हो जाने का जुनून हो,  हाँ ये देश सिर्फ उसी का है जिसके अंदर देश के हित मे खुद की जिंदगी समर्पित कर देने की हिम्मत हो!! और जब तक हम सभी भारतवासियों की भाषा एक है, जब तक हमारी परिभाषा एक है तब तलक दुनिया के किसी माय के लाल में हिम्मत नहीं जो आँख भी दिखा दे हमारे मुल्क को!! 
मेरी ✍🏻 की धार उतनी तो नहीं पर इतनी भी कमजोर नहीं जो देश की शौर्य गाथाओं को उकेर ना सके!!

Comments

  • No Comments
Log Out?

Are you sure you want to log out?