मेरे पहाड़ के अच्छे %E Read Count : 6

Category : Scripts

Sub Category : Tv
मेरे पहाड़ के अच्छे दिन आने वाले हैं आज मैं इस कथन को इसलिए कह रहा हूं क्योंकि जो हाल आज मेरे शहरों का है है उस स्थिति को देखकर मेरे मन में यह विचार उत्पन्न हो रहा है जिस तरीके से आजकल शहरों और महानगरों में बीमारियों एवं दंगों और आतंक के भय से डर जैसी स्थिति उत्पन्न हो रही है जैसे कि आप लोग देख रहे हैं कोरोना COVID-19 जो की चीन  से उत्पन्न हुआ और आज विश्व भर में अपना भय बना चुका है और इसका भय हमारे देश यानी भारत में भी काफी हुआ है जिसके भय से लोगों ने अपने स्थाई निवास पहाड़ों की ओर जाना शुरू कर दिया है आज कोरोना ने भारत में अपना हल्का सा असर छोड़ रहा है जब इतने कम असर में लोगों ने अपने पहाड़ों की ओर जाना शुरू कर दिया है तो आने वाले सालों में यह स्थिति और भी विषम होगी तब जाकर लोग शायद अपने पहाड़ों को खोजना शुरू कर देंगे शायद आज जो लोग अपने पहाड़ की उपयोगिता को शून्य समझते हैं उन लोगों को थोड़ी सी अकल जरूर आएगी शहरों में अगर भय उत्पन्न हो जाएगा तो लोग  शांति को ढूंढने का प्रयास करेंगे जो कि पहाड़ से अच्छा विकल्प और कोई नहीं हो सकता आज जिन लोगों ने मेरे पहाड़ को हवा बना के रखा है कल उन लोगों को इसकी उपयोगिता समझ आएगी अभी भी समय है अपने पहाड़ों को खोजना देखना शुरु करो अपनी देव भूमि को बंजर मत करो शहरों की आड़ में मत बैठो अभी भी समय है कल के दिन ऐसा ना हो कि जब पहाड़ लोटो मेहनत करने को भी इच्छुक हों लेकिन जंगली जानवरों का आतंक हो और कोई और साधन ना हो तब जाकर पहाड़ की बंजर भूमि की उपयोगिता समझ में आएगी तब जाकर पहाड़ की बंजर भूमि को खोदना शुरू करोगे भूख तो होगी लेकिन खेतों में अन्न नहीं होगा जो कि पहले हमारे बुजुर्गों के टाइम में होता था और अभी समय है लौट आओ पहाड़ को अपने पहाड़ को बचाओ 
                                    जय देवभूमि जय उत्तराखंड

Comments

  • No Comments
Log Out?

Are you sure you want to log out?