और बरसने लगी........... Read Count : 17

Category : Poems

Sub Category : N/A
वो बारीश भी क्या बारिश थीं साथ मे, यू तुने मुझे चूमा और बरसने लगी.. 

Comments

  • No Comments
Log Out?

Are you sure you want to log out?