अब समझी.. Read Count : 6

Category : Poems

Sub Category : N/A
अब समझी मेरे दिल को इतनी तकलीफ क्यों देता है वो मेरा खुदा,
 असल में मुझे शायर बनाने की ज़िद करे बैठा है वो.... 

Comments

  • No Comments
Log Out?

Are you sure you want to log out?