तुम.. Read Count : 3

Category : Poems

Sub Category : N/A
मेरा एक बेहद खूबसूरत सा ख्याल हो तुम,
कही कोई ओर ना कायल हो जाए तेरा इसलिए ग़ज़ल नहीं बनाती... 

Comments

  • Aug 03, 2019

Log Out?

Are you sure you want to log out?